सुरक्षा नीति

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट सुरक्षा नीति

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट सुरक्षा नीति का उत्तरदायित्व है कि वह अपने वेबसाइट के उपयोगकर्ताओं की व्यक्तिगत रूप से पहचान व योग्य जानकारी (नाम, पता, जन्म तिथि, आदि) को अनधिकृत पार्टियों के प्रकटीकरण से सुरक्षित रखे व उनसे साझा न करे। अपने वेबसाइट उपयोगकर्ताओं के एकाउंट की जानकारी की सुरक्षा के लिए, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार ने इस वेबसाइट सुरक्षा नीति को अपनाया और लागू किया है।

सूचना और प्रकटीकरण

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार अपने वेबसाइट उपयोगकर्ताओं की व्यक्तिगत रूप से पहचान व योग्य जानकारी को किसी भी अनधिकृत तृतीय पक्ष को न तो बेचेगा, न ही व्यापार करेगा और न ही उनसे साझा करता है।

डेटा गुणवत्ता और पहुंच

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करता है कि वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी सटीक व सही है। यदि कुछ त्रुटि पायी जाती है तो दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार उल्लिखित सूचना को यथाशीघ्र ठीक करने का हर संभव प्रयास करता है। यदि हमे पूरी प्रणाली में किसी प्रकार की त्रुटि दिखाई देती है तो दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार समस्या को हल करने के लिए तेजी से काम करेगा जिससे आपका वेब अनुभव यथासंभव परेशानी व त्रुटि-मुक्त हो। आपके उपयोगकर्ता एकाउंट में कोई भी परिवर्तन अगले कार्य दिवस तक वेबसाइट पर दिखाई नहीं देगा। दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर निहित जानकारी पूर्व अग्रिम सूचना के बिना परिवर्तन के अधीन है।

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार अपने उपयोगकर्ताओं के लिए वेबसाइट के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए कुकीज़ का उपयोग करता है। कुकी एक छोटी फ़ाइल होती है जो उपयोगकर्ता की हार्ड ड्राइव पर संग्रहित होती है। उपयोगकर्ता एक पृष्ठ से दूसरे पृष्ठ पर जब हस्तांतरित होते हैं तो दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार इस फ़ाइल का उपयोग उपयोगकर्ता की कुछ सूचनाओं को एकत्र करने के लिए करता है। ब्राउज़र के बंद करने पर, कुकी निष्क्रिय हो जाती है और अगली बार जब आप दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर पासवर्ड संरक्षित सुविधाओं में से किसी एक का उपयोग करने के लिए साइन ऑन करते हैं तो एक नई कुकी स्वतः बन जाती है। अधिकांश ब्राउज़र कुकीज़ स्वीकार करते हैं, लेकिन यह एक ऐसा कार्य है जिसे उपयोगकर्ता द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है। हालाँकि, वेबसाइट पर दी जाने वाली कई सेवाएँ कुकीज़ को सक्रिय किए बिना बेहतर तरीके से या बिल्कुल भी चलने में असमर्थ होंगी।

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट का उपयोग करते समय कुछ जानकारी जैसे आपका आईपी एड्रेस और पृष्ठों पर बिताया गया समय एकत्र किया जा सकता है। यह गैर-व्यक्तिगत जानकारी, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की साइट पर किसी भी अनधिकृत उपयोग या पहुंच की निगरानी के लिए एकत्र की जाती हैं। दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट को क्षति पहुंचाने, जानकारी चुराने या अन्यथा नुकसान पहुंचाने का प्रयास करते हुए पकड़े जाने पर ऐसे व्यक्ति पर कानूनी कार्यवाही चलायी जाएगी।

डाटा सुरक्षा

दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेता है और इसलिए हमारे उपयोगकर्ताओं की जानकारी को सुरक्षित करने के लिए हर सावधानी बरती जा रही है। उपयोगकर्ताओं की जानकारी को सुरक्षित करने के लिए, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार ने किसी भी डेटा के नुकसान, चोरी या दुरुपयोग को रोकने के लिए कई सुरक्षा उपायों को लागू किया है।

आगंतुक